Murkho Ki Fehrist - Akbar Birbal

1

Add to wishlist

DOWNLOAD AS ZIP

Story types

Language Hindi
Content Maturity All Audiences - Age Below 13
Length Short

Story Outline

बादशाह अकबर घुड़सवारी के इतने शौकीन थे कि पसंद आने पर घोड़े का मुंहमांगा दाम देने को तैयार रहते थे। दूर-दराज के मुल्कों, जैसे अरब, पर्शिया आदि से घोड़ों के विक्रेता मजबूत व आकर्षक घोड़े लेकर दरबार में आया करते थे। (To be continued...)

Reviews

No customer comments for the moment.

Write a review

Murkho Ki Fehrist - Akbar Birbal

Murkho Ki Fehrist - Akbar Birbal

Write a review

30 other stories in the same category: